Android app on Google Play

 

भूतिया अनुभव

 

इस दुनिया में कई लोग भूतों में विश्वास नहीं करते, और यह मानते हैं की ऐसे आलोकिक अनुभव काल्पनिक और सच से परे होते हैं | पर सोचिये अगर में आपको यह बताऊँ की नीचे लिखी कहानियां वास्तविक लोगों के साथ घटित हुई ऐसे ही डरावने अनुभवों का लेखा जोखा है ?

इन आठ माँओं को सिर्फ अपने भूतिया अनुभव औरों के साथ बाटने थे ! लेकिन जो उन्होनिं लिखा वो काफी भयानक था !

शायद भूत वाकई में होते हैं ....

1. फैंटम नैनी

जब मेरी बेटी ६ महीने की थी, तो मेने उसके व्यव्हार को थोडा अजीब पाया | वह अकेले में ऐसे हंसने और खेलने लगती जैसे कोई उसके साथ खेल रहा था | वह रोने लगती थी और जब तक में उसके पास पहुँच पाती अपने आप शांत भी हो जाती | मेने इस बात पर ज्यादा गौर नहीं फ़रमाया लेकिन एक दिन जब में शाम को देर तक जाग रही थी तो मेने एक औरत की परछाईं खिड़की में देखी | वह मेरे कमरे और दफ्तर के बीच के दरवाज़े में खड़ी थी - वो दरवाज़ा जो हमारे घर का मुख्य दरवाज़ा भी था | में उसे साफ़ साफ़ देख सकती थी, एक काले बालों वाली लम्बी औरत जिसने एक पुराना ड्रेसिंग गाउन पहना था | जब मेने मुड़ कर उसे ध्यान से देखने की कोशिश की तो वो चली गयी | ये बात मुझे अजीब लगी  लेकिन मुझे अपने घर में कभी भी कोई  नकरात्मक एहसास महसूस नहीं हुआ |

ये घर पुराना था और हम उसके पहले ऐसे मालिक थे जो उस परिवार के नहीं थे जिसने उसे बनाया | मेने उसे काफी दिनों तक अनदेखा किया जबकि उसका और मेरी बेटी का साथ बढ़ता ही गया |

सबसे डरावनी बात तब हुई जब मेरी बेटी १ साल की थी और एक रात को वो रोते हुए उठ गयी | मैं और मेरे पति दोनों उसको देखने के लिए उठे तो हमने बेबी मोनिटर पर कुछ अजीब सी आवाज़ सुनी और मेरे पति ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी ऊँगली अपने होठों पर रख इशारा किया | हम चुप हो गए और सुनने लगे: वह एक औरत की लोरी गाने की आवाज़ थी | थोड़ी ही देर बाद मेरी बेटी शांत हो गयी और "नाईट नाईट" कह कर सो गयी | मेरे पति भाग कर उसके कमरे में गए देखने के लिए की वो ठीक है के नहीं | सब ठीक था , किस्मत से पर फिर भी हमने अगले ही दिन अपने घर की सफाई करवा दी |

२.डरावनी और अनचाही एक्सोर्सिस्म

मेने अपने एक दोस्त के यहाँ एक लड़की को देखा जो किसी भूत के वश में थी | मैं बाहर ही थी जब मेने उस लड़की की माँ को रोते और चीखते सुना | हम लोग अन्दर गए और देखा के मेरा दोस्त जो काफी तगड़ा आदमी है अपनी बहन को पकड़ने की कोशिश कर रहा था | में इसलिए कह रही हूँ की वो भूत के कब्ज़े में थी क्यूंकि वो आदमी की आवाज़ में बात कर रही थी - वह एक १७ साल की लड़की थी जिसका वज़न ११० पौंड था | उसने अपने भाई को धक्का दिया और धरती पर गिर गयी , फिर वह अपने आप धरती से उठ गयी , उसका शरीर हवा में था और सिर्फ उसके पैर और सर धरती को छु रहे थे |

 

बहुत ही भयानक था, काफी लोग चले गए | में वहां रुक गयी और उसके भाई की मदद करने लगी उसको पकड़ने में , और उस आत्मा से कहने लगी की वो यहाँ से चली जाए | पता नहीं मेने ऐसा क्यूँ किया, में हमेशा से धार्मिक रही हूँ और मुझे लगा की में मदद कर सकती हूँ | २० मिनट बाद वह ठीक हो गयी और उसे कुछ भी याद नहीं था | उसे कुछ भी नहीं पता था की क्या हुआ , वह बहुत परेशान और घबराई हुई लग रही थी | अब वो ठीक है | में और उसका भाई संपर्क में रहते हैं | पिछली बार जब हमने बात की थी तो वो एक साल पहले थे और उसे अभी भी वो रात अच्छे से याद है | उसने मुझे धन्यवाद कहा पर मुझे नहीं लगता था की मेने कुछ उल्लेखनीय किया था | मेने वो किया जो मुझे सही लगा और में सिर्फ मदद करना चाहती थी |

३ पागलखाने का भूत

कुछ दिनों पहले में और मेरा एक दोस्त वुड काउंटी हिस्टोरिकल म्यूजियम देखने गए | वह पहले पागलों का अस्पताल हुआ करता था, पर अब आप वहां घूमने जा सकते हैं या खुद अकेले भी घूम सकते हैं |

 

पर हमें ये नहीं पता था की वो ४ बजे बंद कर देते हैं इसिलए जब हम पहुंचे हमें सिर्फ एक बिल्डिंग देखने को मिली | सीड़ियों पर लिखा था "प्रवेश निषेध" | हम सीड़ियों के नीचे खड़े थे और आप विश्वास नहीं करेंगे की हमने सीड़ियों पर क़दमों की आहट सुनी | मेने अपने दोस्तों की तरफ देखा ये जानने के लिए ," की क्या तुम ये आवाज़ कर रहे हो" | वो नहीं कर रहे थे , वो तो हिल भी नहीं रही थी | पर हमें मालूम है की हमने क्या सुना , इसमें कोई शक नहीं था | हमने हकीकत में उन सीड़ियों पर क़दमों की आहट सुनी थी पर वहां कोई नहीं था | में दुबारा वहां जा कर और इमारतों को जांचना चाहूँगा |

 

४.भूतिया महमान

 

मेने अपने घर में कई भूतों का सामना किया है | ऐसे ही एक वक़्त में अपने शयनकक्ष में अकेली थी और मुझे लगा की बिस्तर पर कोई बैठ गया है | में जग रही थी इसीलिए  मुझे मालूम है में सपना नहीं देख रही थी | उसके बैठने से रजाई भी नीचे हो गयी | एक दुसरे वक़्त में घर पर तीन छोटे बच्चों के साथ अकेले थी और ऊपर टंगी एक लालटेन आगे पीछे झूल रही थी जबकि उसके पास कोई नहीं था | और एक बार मेने अपने तहखाने से अजीब सी आवाजें आती हुईं सुनी , जैसे कई सारे कंचे आगे पीछे झूल रहे हों |

५. अतीत का भूत

जब में ३ या ४ साल का था हम विचिटा ,केंसास में ऐसे घर पर रहते थे जो पहले एक वृक्षारोपण घर हुआ करता था और जिसमें कई सारे अपार्टमेंट थे | मेरी माँ ने बताया की एक दिन उन्होनें मुझे चीखते हुए सुना और जब वह अपने कमरे से बाहर आयीं तो उन्होनें देखा की में बाथरूम से निकल हॉल में भाग रहा था | में अकेले बाथरूम गया था और उन्होनें मुझे बताया की मेने वहां एक आदमी होने की बात उनको बताई | वह भाग कर बाथरूम में गयी लेकिन वहां पर कोई नहीं था |

 

बाथरूम की खिड़की इतनी छोटी थी की कोई उसमें से कोई अन्दर नहीं आ सकता था और  घर की तलाशी लेने के बाद उन्होनें किसी के अन्दर आने का कोई निशान नहीं पाया | उन्होनें मुझसे उसका हुलिया पुछा तो मेने बताया की उसके पास एक जोड़ी रिवाल्वर थी , वह धारीदार सूट पहने था और उसके मूंछे थीं | मेने दुबारा उस आदमी को नहीं देखा पर में अकेले कभी बाथरूम नहीं जाऊँगा |

एक महीने बाद जब वह किचन सिंक साफ़ कर रही थीं तो उन्हें पता चला की पीछे की दिवार नकली थी और उसे हटा कर देखा | पीछे एक छोटी सी जगह थी जहाँ एक आदमी आराम से रह सकता था , कुछ पुरानी बोत्त्लें , एक पुराना कम्बल और दिवार से टंगा हुआ एक धारीदार सूट | वह बहुत डर गयी और क्या कहूं | जब में ६ साल का हुआ तो मेरी माँ ने दुबारा ये बात मेरे दादा दादी से छेड़ी|

मेरे दादा ने बताया की उनके पास पुरानी कई किताबें थीं जिनमें कई तसवीरें भी थीं तो उन्होनें वो निकालीं और मुझे उनमें से पहचान करने को कहा | जैसे वो पन्ने पलट रहे थे मेने उस इंसान को पहचाना और वो तस्वीर थी व्याट यार्प की जो बिलकुल बाथरूम के आदमी जैसा सूट पहने था |

६ वो रूममेट जो शांती से नहीं बैठेगी

में दो और लड़कियों के साथ एक अपार्टमेंट में रहती थी और जब भी में घर आती थी तो मुझे एक एहसास महसूस होता था जैसे घर पर कोई और भी है | हर कमरे की तलाशी लेने की बाद और ये जान कर की कोई नहीं है तब भी ऐसा लगता था जैसे कोई मुझे देख रहा है | में जब लव सीट जो की हॉलवे के सामने थी पर बैठती थी मुझे कभी कभी आँखों के कोनो में लाल की झलक आती थी | इससे में डर जाती थी क्यूंकि दिवार पर या उसके आस पास कुछ भी लाल नहीं था |

आखिरकार एक रात हम सब लोग घर पर थे और बात करने लगे | सबने बताया की उन्होनें भी ऐसा महसूस किया की जैसे घर पर कोई है और लाल की झलक देखी है | अचानक फ़ोन बजा और कॉलर आई डी में हमारा नंबर आ रहा था | हमने उठाया और हमें उस कमरे में से संगीत की आवाज़ आ रही थी जिसमें दूसरा फ़ोन था | हमने जितनी बार भी फ़ोन काटने की कोशिश की वह बंद नहीं हुआ और मेरे रूममेट ने बताया की उसने उस कमरे में रेडियो नहीं चलाया था | हम उस रात सारे लिविंग रूम में ही सोये और उसके बाद हम सबने यहाँ से जाने का फैसला किया | अगले कुछ हफ़्तों में हमें वह अहसास और ज्यादा महसूस हुआ और हमें लाल की झलक ज्यादा देखने को मिली | छह हफ़्तों बाद हमने वह घर छोड़ दिया | मेरे रूममेटस ने अलग अलग कमरे किराये पर ले लिए | आज भी में उस जगह के बारे में सोचती हूँ तो डर जाती हूँ |

७.वह मरे लोगों को देख सकती है

मेने कई ऐसे लोगों को देखा है जो मर चुके हैं , पर अक्सर में उन्हें सुन नहीं पाती हूँ | और ये हमेशा नहीं होता है | ये बहुत ही अजीब और डरावना है | में कभी भी अपने पति के कजिन से नहीं मिली लेकिन उसके अंतिम संस्कार में अपने पति को सहारे देने के लिए उसके साथ शामिल हुई | मेने उसके मरे कजिन को ताबूत के पास खड़े हो अपने भाई को एक दुःख भरा भाषण देते सुना | में डर कर उसे देखती रही , वह दुखी होने के बजाये अपना सर हिला रहा था | फिर उनसे मुझे देखा और ऐसा चेहरा बनाया जैसे वह बहुत ध्यान से कुछ देखने की कोशिश कर रहा | जब मेरे पति ने मेरा हाथ पकड़ने के लिए मुझे छुआ मेने नज़र हटा ली ; जब मेने वापस देखा तो वो जा चुका था | उसके इलावा में अपने परिवार में मरे कई लोगों को और अपने मरे कुत्ते को भी साफ़ साफ़ देख पाती थी |

इसके इलावा मेरे पास डॉटी है जो एक छोटी लड़की है जो मेरे बेटों के कमरे में रहती है और उनके चले जाने पर रोती है | मेने उसे नहीं  देखा है पर मेरे बेटों ने उसे कई बार देखा है  और मेरे पति ने भी उसे देखा है |

८. घर में डरावनी आत्माओं का वास

अपने घर में हाल ही आने के बाद , में सोने की कोशिश कर रही थी जब मुझे ऐसा लगा की बिस्तर हिला है जैसे  कोई उस पर बैठ गया है | मुझे लगा की मेरी बेटी है तो में उठी उसे ये कहने के लिए की वो नीचे चली जाए पर वहां कोई नहीं था | कुछ पल बाद में दुबारा लेटी तो ऐसा लगा की जैसे कोई बिस्तर से उठ कर गया है | और जब मेरी छोटी बेटी काफी छोटी  थी तो वो घर में किसी चीज़ का पीछा करती थी | कई बार ऐसे ही वो कुछ घूरने लग जाती और उधर ऊँगली से इशारा करती थी खास तौर पर शयनकक्ष की तरफ जाती सीड़ियों की तरफ  | हमने अपने पड़ोसियों से बात की और एक मेक्सिको से आने वाली दादी ने बताया की जब भी वह यहाँ आई हैं उन्होंने हमारे घर पर एक लड़के और लड़की को देखा है | हमारे सिर्फ लड़कियां हैं |

 

रहस्यमयी कहानियाँ

संकलित
Chapters
उड़ता समुन्द्री जहाज
मासूम
मर्डर मिस्ट्री
नताली एन हॉलोवे
साराह जो
विलिसिका मर्डर हॉउस
एलियन मोर की लाइटहाउस मिस्ट्री
अनसुलझा रहस्य
रहस्यमयी ध्वनि
भयानक अनसुलझी सीरियल हत्याएं: भाग १
भयानक अनसुलझी सीरियल हत्याएं: भाग 2
2006 नॉएडा सीरियल मर्डर्स
जैक द रिपर: भाग १
जैक द रिपर: भाग २
साइको रमण
बिस्तर के नीचे शव
रीवरवूड और अन्य रहस्यमयी कहानियाँ
भूतिया अनुभव
किलर क्लाउन
मरा हुआ बॉयफ्रेंड
एरिन काफ्फी ने किया अपने पूरे परिवार का क़त्ल
किशोर लड़के ने माँ को बिस्तर में गोली मार दी
किन्ग्स्बुरी रन का मेड बुचर
जोडिएक कातिल
लेक बेर्रीएस्सा
मोडेस्टो
डेनियल दुन्ग्लास होम - प्रसिद्द माध्यम
इतिहास के पागल वैज्ञानिक
अद्भुत हौदिनी
संत गेर्मैन
इस्डल औरत
पीटर बर्गमान केस
जोसफ मार्शल की मौत
मंग्नोसों केस
द्यात्लोव पास घटना
ब्लडी मेरी की खौफनाक कहानी
माइकल
टीपू का बाघ