Android app on Google Play

 

सारह जो का क्रू


1979 में 5 करीबी दोस्त ने सारह जो नाम की बोट पर हवाई से अपनी यात्रा शुरू की |जब वह वहां से चले तो लोगों ने आखरी बार उनको जीवित देखा |दो साल बाद एक तओंगी नाम के सूनसान द्वीप पर वह बोट लोगो को एक ग्रेव के पास मिली | उस ग्रेव में एक इन्सान का जो बोन था | शोध करने पर सामने आया की ये जो बोन उनमें से एक दोस्त स्कॉट मूर्मन का था |एक आम धारणा है की सारह जो तूफ़ान में फंस कर यहाँ पर दुर्घटना ग्रस्त हो गयी थी |लेकिन इससे ये बात समझ नहीं आता की वह जो बोन वहां कैसे मिला था |उसके आस पास चाईनीज़ में लिखे कुछ दफ़नाने के कागज़ थे |कोई और अवशेष न मिलने के कारण ये कभी पता चल नहीं पाया की सारह जो के साथ क्या हुआ था |