Android app on Google Play

 

हनुमान और श्री राम युद्ध

 

हनुमान ने एक बार श्री राम के विरुद्ध युद्ध लड़ा था और जीते भी थे | महर्षि विश्वामित्र ने राम को ययाति को मारने का आदेश दिया परन्तु ययाति ने हनुमान से मदद मांग ली और बिना ये पता किये की उनका विरोधी कौन है हनुमान ने उनकी मदद करने का फैसला किया | हनुमान ने इस युद्ध में राम के विरुद्ध किसी हथियार का इस्तेमाल नहीं किया बस हाथ जोड़ राम  का नाम लेते रहे | श्री राम के धनुष से निकलने वाले तीरों का हनुमान पर कोई असर नहीं हुआ | श्री राम ने फिर हार मान ली और विश्वामित्र ने भी हनुमान भक्ति को देख श्री राम को अपने वादे से मुक्त कर हनुमान को वीर हनुमान नाम दिया |