Android app on Google Play

 

मारिया रिदुल्फ

सबसे लम्बे चलने वाले केस में सबसे ऊपर नाम है १९५७ में ७ साल की मारिया रिदुल्फ के क़त्ल का | वह लड़की साइकामोर , इलेनॉइस से एक सर्द रात को गायब हो गयी थी और अगले साल उसका शव बरामद हुआ | एक संदिग्ध मिला – जॉन तेस्सिएर नाम का युवक – पर उसके पास एक पुख्ता बहाना था : वह उस वक़्त ट्रेन पर सफ़र कर रहा था और उसके पास पुष्टि करने के लिए गवाह मोजूद थे | पुलिस वालों ने उसे जाने दिया और वह भयानक क़त्ल अनसुलझा रह गया | 

लेकिन विज्ञान के पास अपने तरीके होते हैं गुनह्गारों को सजा देने के और जब रिदुल्फ के शव को २०११ में फिर से डीएनए जांच के लिए निकाला गया तो ऊँगली फिर तेस्सिएर पर जाकर रुकी | उसकी ट्रेन की बात भी झूठी निकली जब उसकी एक महिला मित्र ने पाया की उसकी टिकट इस्तेमाल नहीं हुई थी | अब जेक म्च्चुल्लौघ के नाम से जाना जाने वाला , उसको २०१२ सितम्बर में सीएटल से गिरफ्तार किया गया | 55 साल बाद मारिया रिदुल्फ के परिवार को न्याय मिला |