महात्मा गांधी (Hindi)


सुहास
मोहनदास करमचन्द गांधी भारत एवं भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के एक प्रमुख राजनैतिक एवं आध्यात्मिक नेता थे। वे सत्याग्रह (व्यापक सविनय अवज्ञा) के माध्यम से अत्याचार के प्रतिकार के अग्रणी नेता थे, उनकी इस अवधारणा की नींव सम्पूर्ण अहिंसा के सिद्धान्त पर रखी गयी थी जिसने भारत को आजादी दिलाकर पूरी दुनिया में जनता के नागरिक अधिकारों एवं स्वतन्त्रता के प्रति आन्दोलन के लिये प्रेरित किया। READ ON NEW WEBSITE

Chapters

मोहनदास करमचन्द गांधी

प्रारम्भिक जीवन

कम आयु में विवाह

विदेश में शिक्षा व विदेश में ही वकालत

दक्षिण अफ्रीका (१८९३-१९१४) में नागरिक अधिकारों के आन्दोलन

१९०६ के ज़ुलु युद्ध में भूमिका

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के लिए संघर्ष (१९१६ -१९४५)

चंपारण और खेड़ा

असहयोग आन्दोलन

स्वराज और नमक सत्याग्रह (नमक मार्च)

हरिजन आंदोलन और निश्चय दिवस

द्वितीय विश्व युद्ध और भारत छोड़ो आन्दोलन

स्वतंत्रता और भारत का विभाजन

मैनचेस्टर गार्जियन, १८ फरवरी, १९४८, की गलियों से ले जाते हुआ दिखाया गया था।

गांधी के सिद्धांत

लेखन कार्य एवं प्रकाशन

प्रमुख प्रकाशित पुस्तकें

कथित समलैंगिक प्रेम संबंध

गांधी और कालेनबाख