Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

टुरिन का श्राउड

शायद इस सूची में दी गयी वस्तुओं में से सबसे प्रसिद्द ,और मानवता के इतिहास में सबसे विवादास्पद , टुरिन का श्राउड उन दुर्लभ वस्तुओं में से है जिसने न सिर्फ पूरी दुनिया के इतिहासकारों में अपितु सभी धर्मशास्त्रियों में विवाद और झगड़ों को शुरू करवा दिया है |वजह साफ़ है – इस कपडे के टुकड़े में रहस्यमयी तौर पर एक ऐसे आदमी की छवि दिखाई पड़ती है जिसे सूली पर चढ़ाया गया हो |एक दम से अनुमान स्थापित किये गए की ये कपड़ा ( इसको इटली के टुरिन के संत जॉन द बैप्टिस्ट के कैथेड्रल में रखा गया है ) येशु मसीह के कफ़न का कपडा है | 
लेकिन हर विवादास्पद इतिहासिक खोज की तरह विशेषज्ञ इस साक्ष्य की आलोकिकता से संतुष्ट नहीं है | इसके इलावा भी क्षोध्कर्ता श्राउड का मूल समय पता करने में असफल रहे हैं – जिसमें सबसे आम है की ये कपडा १२६० से १३९० ऐ डी( १९८८ में किये गए रेडियोकार्बन डेटिंग जांच से पता चला ) के बीच के समय का है | पर इन निष्कर्षों को कुछ वैज्ञानिकों और इतिहासकारों ने चुनौती दी है | गौर तलब बात है की इन दो सोचों के विवाद के बीच , दो हाल के पोपस ने टुरिन के श्राउड को ईसाई धर्म का प्रतिनिधि मान लिया है |