Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

एंटीकाईथेरा प्रणाली

एंटीकाईथेरा ग्रीस के दक्षिण में स्थित ऐतिहासिक स्थल है जहाँ दुनिया के सबसे पुराने जहाज के टुकड़े मिले हैं | एंटीकाईथेरा प्रणाली पानी के नीचे स्थित इसी स्थल से १९०० में निकाली गयी थी और तब से ये उपकरण वैज्ञानिकों और पुरात्त्ववादीयों को ना सिर्फ अपनी उत्कृष्ट कारीगारी के लिए अपितु अपने उन्नत उद्देश्य के चलते हैरान किये हुए है | इस मामले में इस प्रणाली को दुनिया का सबसे प्राचीन “गियर मशीन” बताया गया है और इसे दुनिया का सबसे पुराना एनालॉग कंप्यूटर कहा गया है - विभिन्न जटिल खगोलीय दर्शन (ग्रहण शामिल ) की खोज (भविष्यवाणी) करने के लिए तैयार किया गया |
हैरानी की बात ये है की इतनी तारीफों और प्रसिद्धि के बाद भी इतिहासकारों को इस अनोखी प्रणाली के रचईता के बारे में ज्यादा जानकारी हासिल नहीं हुई है | जो थोड़ी जानकारी हासिल हुई है वो ये है इस उपकरण का निर्माण ग्रीक खगोलशास्त्रियों ने ३ सदी के अंत में किया था | इस अनोखे यंत्र की तारीफ योग्य शिल्प कौशल के मूल के बारे में कई अनुमान लगाये गए हैं जिसमें सबसे नवीन है “द  एंटीकाईथेरा मैकेनिज्म रेसेअर्च प्रोजेक्ट” जो कहता है की इस उपकरण का निर्माण कोरिंथ की किसी कॉलोनी में हुआ था (जिसमें आर्कमिडीज का घर सायराक्यूज शामिल था) | सबसे नवीन विश्लेषण के मुताबिक ये उपकरण वोही है जो रोमन जनरल मर्सेल्लुस सायराक्यूज से २१२ ऐ डी में इनाम् के तौर उठा के ले गया था , जिससे ये संकेत मिलता है की शायद आर्कमिडीज ही इसका रचईता है | अन्य अनुमानों में शामिल है की ये उपकरण या तो पेर्गामम( आज का टर्की) या रोडज में निर्मित हुआ था – दोनों ही स्थान विज्ञान और ख़ुगोल में अपनी प्राचीन उपलब्धियों के लिए प्रसिद्द हैं |