Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

लेक विन्निपेसौकी मिस्ट्री स्टोन

एक गहरे रंग का अंडे की आकार का पत्थर १८७२ में न्यू इंग्लैंड के पास लेक विन्निपेसौकी में मिला था ; और उसमें कई प्रकार की नक्काशी बनी हुई थी जैसे चेहरा, मक्के के दाने और सितारे के आकार के चक्र | इस रहस्यमयी कलाकृति को न्यू हैम्पशायर इतिहास के संघ्राहालय को १९२७ में दान दे दिया था,और वह अभी भी वहां प्रदर्शित है | इस पत्थर के उद्देश्य के बारे में बात करें तो इतिहासकारों के कुछ अनुमान हैं, अमेरिकन नेचुरलईस्ट का ये मानना है की इस पत्थर को दो जातियों के बीच के शान्ति समझौते के प्रतिनधि के तौर पर बनाया गया था | 
लेकिन नक्काशी से भी ज्यादा, इस पूरे मामले में एक गुप्त नजरिया भी है , और वह है पत्थर के दोनों छोर पर गुदे हुए दो छेद | रिचर्ड बोइस्वेर्ट, एक राज्य पुरातत्वविद् , के मुताबिक ये छेद सामान्य हैं , और इस बात की और इशारा करता है के नेटिव अमेरिकन अल्पविकसित बोरिंग की तकनीक के बजाय भारी औजारों का इस्तेमाल करते थे | उन्होनें ये भी बताया की ऐसी सम्भावना है की ये छेद १९ सदी के अंत के सालों में बनाये गए हों जिसका मतलब है की किसी ने कलाकृति के संग छेड़छाड़ की है | जो भी हो अनुमानित है की ये पत्थर कुआर्टज़ाईट से बनाया गया था जो की सैंडस्टोन या मायीलोनाईट से उत्पन्न होता है |