A PHP Error was encountered

Severity: Warning

Message: fopen(/tmp/ci_sessionrnqv434h9blqs475gv0ur7ue4k7ca3bl): failed to open stream: No such file or directory

Filename: drivers/Session_files_driver.php

Line Number: 172

Backtrace:

File: /var/www/bookstruck/application/controllers/Book.php
Line: 14
Function: __construct

File: /var/www/bookstruck/index.php
Line: 317
Function: require_once

A PHP Error was encountered

Severity: Warning

Message: session_start(): Failed to read session data: user (path: /tmp)

Filename: Session/Session.php

Line Number: 143

Backtrace:

File: /var/www/bookstruck/application/controllers/Book.php
Line: 14
Function: __construct

File: /var/www/bookstruck/index.php
Line: 317
Function: require_once

शनि शिंगणापुर का महात्मय | औरतों का सम्बन्ध | Marathi stories | Hindi Stories | Gujarati Stories

Android app on Google Play

 

औरतों का सम्बन्ध

४०० साल पुराणी प्रथा के मुताबिक औरतें अन्दर के मंदिर में प्रवेश नहीं कर सकती थी | २६ जनवरी २०१६ को समाज सेविका तृप्ति देसाई के नेतृत्व में  करीब ५०० औरतें अन्दर के मंदिर में प्रवेश पाने हेतु वहां पहुंची | पुलिस ने उनका रास्ता रोका | ३० मार्च २०१६ को एक एतिहासिक फैसले में बॉम्बे हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार को आदेश दिए की वह औरतों के प्रवेश पर प्रतिबन्ध  न लगायें |

८ अप्रैल २०१६ को शनि शिन्ग्नापुर ट्रस्ट ने औरतों को अन्दर के मंदिर में प्रवेश करने की इजाज़त दी |