A PHP Error was encountered

Severity: Warning

Message: fopen(/tmp/ci_sessiondcikdq97cv2gbnugslfl7h5vjptfvmji): failed to open stream: No such file or directory

Filename: drivers/Session_files_driver.php

Line Number: 172

Backtrace:

File: /var/www/bookstruck/application/controllers/Book.php
Line: 14
Function: __construct

File: /var/www/bookstruck/index.php
Line: 317
Function: require_once

A PHP Error was encountered

Severity: Warning

Message: session_start(): Failed to read session data: user (path: /tmp)

Filename: Session/Session.php

Line Number: 143

Backtrace:

File: /var/www/bookstruck/application/controllers/Book.php
Line: 14
Function: __construct

File: /var/www/bookstruck/index.php
Line: 317
Function: require_once

बेगुनाह या गुनेह्गार | Marathi stories | Hindi Stories | Gujarati Stories

बेगुनाह या गुनेह्गार (Hindi)


हिंदी संपादक (विशेष लेखन)
हांलाकि कानून का काम है सही फैसले देना कई बार ऐसा नहीं हो पाता | ऐसी सूरत में कई बार लोगों को कई साल तक जेल की सजा काटनी पड़ती है उसके बाद उनके हक में फैसला होता है | कई बार तो वो फैसला जब तक आता है व्यक्ति जेल में रहने का आदि हो जाता है या फिर मृत्यु को प्राप्त हो जाता है | आईये जानते हैं ऐसे ही कुछ पेचीदा केस के बारे में जहाँ लोगों की जिंदगी एक गलत फैसले की वजह से बदल गयी | READ ON NEW WEBSITE