Android app on Google Play

 

वारुणी देवी

 

समुद्र मंथन से नौवे क्रम में निकली वारुणी देवी, भगवान की अनुमति से इस को  दैत्यों ने ले लिया। वारुणी का अर्थ है मदिरा यानी नशा। यह एक बुराई है। नशा कैसा भी हो शरीर के लिए बुरा ही होता है। परमात्मा को पाना है तो सबसे पहले नशा छोड़ना होगा तभी परमात्मा से साक्षात्कार संभव है।