देश निकाला (Hindi)


हिंदी संपादक (विशेष लेखन)
हमारे देश में कई बार ऐसा भी हुआ है की धर्म ,जात और अन्य बाधाओं के चलते किसी व्यक्ति को मजबूरन अपने राज्य को छोड़ किसी अन्य स्थान पर जाकर शरण लेनी पड़ी | लेकिन हम आपसे उन लोगों की बात कर रहे हैं जो इन आपदाओं के होते हुए भी अपने आप में समाज पर एक अमिट छाप छोड़ पाए |इनमें से कुछ की गाथा से आप वाकिफ होंगे | लेकिन कुछ ऐसे हैं जिनके नाम आपको पता हैं लेकिन वह इतने सफल कैसे हुए इस बात से आप अनजान हैं | आईये जानते हैं ऐसे ही कुछ लोगों की कहानी |