Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

तेरहवां भाग : बयान - 12


सर्यू - चलो हम-तुम दोनों मिलकर कुछ करें!

भूत - मैं तैयार हूं, मगर इस बात को सोच लो कि ऐसा करने पर तुम्हारा मालिक रंज तो न होगा!

सर्यू - सब सोचा-समझा है, हमारा मालिक भी रोहतासगढ़ ही गया हुआ है और वह भी राजा वीरेन्द्रसिंह का पक्षपाती है।

भूत - खैर तो अब विलम्ब करना अपने अमूल्य समय को नष्ट करना है (ऊंची सांस लेकर) ईश्वर न करे शिवदत्त के हाथ कहीं किशोरी लग जाय, अगर ऐसा हुआ तो अबकी दफे वह बेचारी कदापि न बचेगी।

सर्यू - मैं भी यही सोच रहा हूं, अच्छा तो अब तैयार हो जाओ, मगर मैं नियमानुसार तुम्हारी आंखों पर पट्टी बांधकर बाहर ले जाऊंगा।

भूत - कोई चिन्ता नहीं, हां यह तो कहो कि मेरे ऐयारी के बटुए में कई मसालों की कमी हो गई है, क्या तुम उसे पूरा कर सकते हो

सर्यू - हां, हां, जिन-जिन चीजों की जरूरत हो ले लो, यहां किसी बात की कमी नहीं है।

चंद्रकांता संतति - खंड 4

देवकीनन्दन खत्री
Chapters
तेरहवां भाग : बयान - 1
तेरहवां भाग : बयान - 2
तेरहवां भाग : बयान - 3
तेरहवां भाग : बयान - 4
तेरहवां भाग : बयान - 5
तेरहवां भाग : बयान - 6
तेरहवां भाग : बयान - 7
तेरहवां भाग : बयान - 8
तेरहवां भाग : बयान - 9
तेरहवां भाग : बयान - 10
तेरहवां भाग : बयान - 11
तेरहवां भाग : बयान - 12
तेरहवां भाग : बयान - 13
चौदहवां भाग : बयान - 1
चौदहवां भाग : बयान - 2
चौदहवां भाग : बयान - 3
चौदहवां भाग : बयान - 4
चौदहवां भाग : बयान - 5
चौदहवां भाग : बयान - 6
चौदहवां भाग : बयान - 7
चौदहवां भाग : बयान - 8
चौदहवां भाग : बयान - 9
चौदहवां भाग : बयान - 10
चौदहवां भाग : बयान - 11
पन्द्रहवां भाग बयान - 1
पन्द्रहवां भाग बयान - 2
पन्द्रहवां भाग बयान - 3
पन्द्रहवां भाग बयान - 4
पन्द्रहवां भाग बयान - 5
पन्द्रहवां भाग बयान - 6
पन्द्रहवां भाग बयान - 7
पन्द्रहवां भाग बयान - 8
पन्द्रहवां भाग बयान - 9
पन्द्रहवां भाग बयान - 10
पन्द्रहवां भाग बयान - 11
पन्द्रहवां भाग बयान - 12
सोलहवां भाग बयान - 1
सोलहवां भाग बयान - 2
सोलहवां भाग बयान - 3
सोलहवां भाग बयान - 4
सोलहवां भाग बयान - 5
सोलहवां भाग बयान - 6
सोलहवां भाग बयान - 7
सोलहवां भाग बयान - 8
सोलहवां भाग बयान - 9
सोलहवां भाग बयान - 10
सोलहवां भाग बयान - 11
सोलहवां भाग बयान - 12
सोलहवां भाग बयान - 13
सोलहवां भाग बयान - 14