Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

तानसेन


हरिदास की समाधी भी इसलिए निधि वन में ही बनायीं गयी | वह बहुत तन्मयता से ठाकुर जी के गाने गाते थे |तानसेन और बैजू बावरा हरिदास के मशहूर  शिष्य थे |