Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

तीसरा सुराग

बर्गेन के रेलवे स्टेशन पर दो सूटकेस का मिलना | उसमें से एक सूटकेस में एक चश्मा था जिसपर उस औरत के उँगलियों के निशान मोजूद थे |सूटकेस में और भी कई वस्तु थी जैसे

कपडे

विग

नार्वेजियन और स्वीडिश पैसा

कोंब और हेयर ब्रश

कुछ टी स्पून 

एक्जिमा क्रीम का टयूब 

पुलिस को लगा इससे उनको काफी ज़रूरी जानकारी प्राप्त होगी लेकिन ऐसा नहीं हुआ | सभी वस्तुओं पर से लेबल पूरी तरीके से हटा दिए गए थे | पुलिस सभी स्टोर इत्यादि से संपर्क में आती है | लेकिन कहीं से कोई भी जानकारी प्राप्त नहीं होती है |एक रहस्यमयी कोड सन्देश भी सूटकेस में रखा है जिसका अर्थ पुलिस को नहीं समझ आ रहा है | एक जूते के स्टोर का बाग़ भी सूटकेस में मिलता है | पुलिस के पूछने पर वह मानते हैं की एक खुबसूरत औरत ने वहां से जूते खरीदे थे | दुकान के मालिक का बीटा बताता है औरत में से लहसुन की बहुत तेज़ महक आ रही थी और वह बहुत स्टाइल से अंग्रेजी बोल रही थी |इस जानकारी से पुलिस पता लगाती है की ऐसी औरत पास के संत स्विथुन होटल में फेनेल्ला लोर्च नाम से रुकी थी | परेशानी ये थी की ये उसका असली नाम नहीं था |