Android app on Google Play

 

फिलिप फ्रासिएर

 


1988 में फिलिप हाईवे पर जा रहे थे जब उनसे किसी ने लिफ्ट मांगी |उस रात वह लिफ्ट मांगने वाला कैनाडा में एड्डी और पौलिन ओल्सन के घर पहुंचा |उसने बताया की वह फिलिप है और  उसकी गाड़ी परेशान कर रही है और उसको रात को ठहरने दें | उसने अपनी गाडी एड्डी को बेचनी चाही ताकि वह उससे प्लेन की टिकेट खरीद ले| एड्डी के मना करने पर वह चला गया | 300 मील दूर फिलिप की गाड़ी जली हुई मिली |फिलिप का शव 6 हफ्ते बाद हाईवे पर मिला लेकिन उसके कातिल का पता नहीं चला |