Android app on Google Play

 

भगवान शिव गले में क्यों धारण करते हैं नाग?

 

भगवान शिव खुद जितने रहस्यमयी हैं, उनके  वस्त्र व आभूषण भी उतने ही विचित्र हैं। सांसारिक लोग जिनसे दूर भागते हैं, भगवान शिव उन्हें  ही अपने साथ रखते हैं। भगवान शिव एकमात्र ऐसे देवता हैं जो गले में नाग पहनते हैं। देखा जाए तो ये नाग बहुत ही खतरनाक प्राणी है, लेकिन वह बिना कारण किसी को नहीं काटता। नाग पारिस्थितिक तंत्र का एक महत्वपूर्ण जीव है। जाने-अंजाने में ये मनुष्यों की काफी सहायता  करता है। कुछ लोग डर कर या अपने निजी स्वार्थ के लिए नागों को मार देते हैं। जिंदगी के दृष्टिकोण से देखा जाए तो भगवान शिव नाग को गले में धारण कर ये संदेश देते हैं कि जीवन चक्र में हर प्राणी का अपना एक विशेष योगदान है। इसलिए बिना वजह किसी प्राणी की हत्या न करें।