Android app on Google Play

 

ताम्र सम्सोनोवा

 

ताम्र सम्सोनोवा बहुत उम्रदार थीं जब उन्हें सोशल सर्विस के लोगों ने संत पीटरस्बुर्घ के एक युद्ध सैनिक के घर में रहने के लिए भेजा | इस एहसान का बदला देने के बजाय ताम्रा ने उसका क़त्ल कर दिया | इसके इलावा और कई नजदीकी लोगों जिनमें उनके पति भी शामिल थे का भी यही हाल हुआ | 

सम्सोनावा की उम्र (पकडे जाने के समय ६८ साल) की वजह से लोगों को इस हैवानियत पर यकीन नहीं हुआ | अक्सर वह क़त्ल कर शव को बिना सोचे खा जाती थीं | ऐसा कई सालों से चल रहा था | उसका पति जो सम्सोनोवा के पकडे जाने के १० साल पहले गयाब हो गया था उसके शुरुआती शिकारों में से एक है | वह तब पकड़ी गयीं जब एक टी वी कैमरा ने उन्हें कूड़े में शरीर के अंग फैंकते देख लिया | जब जांच गहरायी में हुई तो उनकी और काली करतूतें सामने आयीं | उनकी डायरी में उन्होनें भक्षण का ज़िक्र किया और ये भी बताया की वह फेफड़ों को निकाल खा लेती थी |

मीडिया ने जल्द ही कहानी को तूल दे दिया और सम्सोनोवा को “ग्रैनी रिपर” का नाम दिया गया | पहले उन्होनें गुनाहों को नहीं कबूला लेकिन बाद में उन्होनें क़त्ल की वजह बताई , वह सिर्फ एक सीरियल कातिल की तरह जानी जाना चाहती थीं | सम्सोनोवा को अभी तक सजा नहीं हुई क्यूंकि जांच अभी जारी है |