Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

सत्य का महत्त्व

कौरवों की सेना बेहद सशक्त थी और उसमें कई ऐसे योद्धा थे जो किसी को भी हराने की क्षमता रखते थे |इसके बावजूद उन्हें हार का सामना करना पड़ा | ऐसा इसलिए क्यूंकि जब दुर्योधन से श्री कृष्ण ने नारायणी सेना और स्वयं में चुनाव करने को कहा तो उसने सेना को चुनना बेहतर समझा | कृष्ण तो खुद भगवान थे सत्य का प्रतीक इसलिए जहाँ वह हैं वहां तो जीत निश्चित है | अगर आप भी सही रास्ते पर चलते हैं तो हो सकता है आपको तकलीफ हो लेकिन आप का भविष्य अति खूबसूरत होगा इसलिए सत्य की राह से हटे नहीं |