Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

26 दिसम्बर 2004 क्वीन ऑफ़ द सी ट्रेन ( 2000 मौतें )

26 दिसम्बर 2004 को सुमात्रा के तट पर आये भूकंप की वजह से एशिया और पूर्व अफ्रीका के तटीय स्थानों पर सुनामी आगया जिससे 225000 लोगों की मौत हो गयी | श्री लंका के पारलिया शहर में क्वीन ऑफ़ द सी ट्रेन पटरी से गिर गयी जिससे अंदाज़न 2000 लोगों की मौत हो गयी | क्वीन ऑफ़ द सी ट्रेन एक लोकप्रिय पर्यटक ट्रेन थी जो कोलोंबो से गल्ले तक जाती थी | २६ दिसंबर 2004 को क्रिसमस की छुट्टी के कारण ट्रेन में 1500 से ज्यादा यात्री सवारी कर रहे थे | सुबह 09:30 बजे पहली लहर तट से टकराई | इस के प्रभाव से ट्रेन रुक गयी | स्थानीय लोगो को लगा की ट्रेन के पीछे छुपने से बच जायेंगे इसलिए उस पर चढ़ गए | दूसरी लहर ने इंजन और 8 डिब्बों को पटरी से फेंक दिया और 4  बार चक्कर खा के वह एक दलदल में जा कर रुक गयी | 

यात्रियों में से सिर्फ कुछ लोग बच पाए | पारलिया शहर का अस्तित्व मिट गया और पूरे परिवार ख़तम हो गए | श्री लंका ने सुनामी में 41000 लोगों को खो दिया | क्वीन ऑफ़ द सी ट्रेन के टूटे डब्बे आज भी श्रद्धांजलि के तौर पर रखे गए हैं |आज उस रस्ते पर उसी नाम की दूसरी गाड़ी चलती है |


दुर्घटनाग्रस्त

हिंदी संपादक (विशेष लेखन)
Chapters
26 दिसम्बर 2004 क्वीन ऑफ़ द सी ट्रेन ( 2000 मौतें )
6 जून 1981 – बिहार रेल दुर्घटना (300-800 लोगों की मौत)
9 सितम्बर 2002 हावड़ा – नयी दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस (140 मौतें )
22 मई 2010 –एयर इंडिया एक्सप्रेस फ्लाइट 812 (158 मौतें )
21 जून 1982 - एयर इंडिया फ्लाइट 403 (17 मौतें)
अगस्त 2013- आई एन एस सिन्धुरक्षक ( 18 मौतें )
26 फेब्रुअरी 2014 आई एन एस सिन्धुरत्न (2 मौतें )
मार्च 2016 - आई एन एस विराट हवाई जहाज (1 मौत )
14 फेब्रुअरी 1990 इंडियन एयरलाइन्स फ्लाइट 605 (92 मौतें )
फेब्रुअरी 2008 आई एन एस जल्श्वा (5 मौतें )
20 अगस्त 1995: फिरोजाबाद रेल दुर्घटना( 358 लोगों की मौत )
2 अगस्त 1999: अवध – असम एक्सप्रेस और ब्रह्मपुत्र मेल की टक्कर (268 मौतें )
26 नवम्बर 1998: खन्ना रेल दुर्घटना 212 मौतें
17 जुलाई 2000 –अलायन्स एयर फ्लाइट 7412 (60 मौतें )
17 जुलाई 2000 –अलायन्स एयर फ्लाइट 7412 (60 मौतें )
12 नवम्बर 1996 सऊदी अराबियन एयरलाइन्स फ्लाइट 763 –(349 मौतें)
28 मई 2010 –ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस गाड़ी का पटरी से उतरना (170 मौतें )