Android app on Google Play iPhone app Download from Windows Store

 

श्री प्रेतराज जी की आरती

   
जय प्रेतराज कृपालु मेरी,
अरज अब सुन लीजिये।

मैं शरण तुम्हारी आ गया हूँ,
नाथ दर्शन दीजिये।

मैं करूं विनती आपसे अब,
तुम दयामय चित धरो।

चरणों का ले लिया आसरा,
प्रभु वेग से मेरा दुःख हरो।

सिर पर मोरमुकुट करमें धनुष,
गलबीच मोतियन माल है।

जो करे दर्शन प्रेम से सब,
कटत तन के जाल है।

जब पहन बख्तर ले खड़ग,
बांई बगल में ढाल है।

ऐसा भयंकर रूप जिनका,
देख डरपत काल है।

अति प्रबल सेना विकट योद्धा,
संग में विकराल है।

तब भूत प्रेत पिशाच बांधे,
कैद करते हाल है।

तब रूप धरते वीर का,
करते तैयारी चलन की।

संग में लड़ाके ज्वान जिनकी,
थाह नहीं है बलन की।

तुम सब तरह समर्थ हो,
प्रभुसकल सुख के धाम हो।

दुष्टों के मारनहार हो,
भक्तों के पूरण काम हो।

मैं हूँ मती का मन्द मेरी,
बुद्धि को निर्मल करो।

अज्ञान का अंधेर उर में,
ज्ञान का दीपक धरो।

सब मनोरथ सिद्ध करते,
जो कोई सेवा करे।

तन्दुल बूरा घृत मेवा,
भेंट ले आगे धरे।

सुयश सुन कर आपका,
दुखिया तो आये दूर के।

सब स्त्री अरु पुरुष आकर,
पड़े हैं चरण हजूर के।

लीला है अदभुत आपकी,
महिमा तो अपरंपार है।

मैं ध्यान जिस दम धरत हूँ,
रच देना मंगलाचार है।

सेवक गणेशपुरी महन्त जी,
की लाज तुम्हारे हाथ है।

करना खता सब माफ़,
उनकी देना हरदम साथ है।

दरबार में आओ अभी,
सरकार में हाजिर खड़ा।

इन्साफ मेरा अब करो,
चरणों में आकर गिर पड़ा।

अर्जी बमूजिब दे चुका,
अब गौर इस पर कीजिये।

तत्काल इस पर हुक्म लिख दो,
फैसला कर दीजिये।

महाराज की यह स्तुति,
कोई नेम से गाया करे।

सब सिद्ध कारज होय उनके,
रोग पीड़ा सब टरे।

"सुखराम" सेवक आपका,
उसको नहीं बिसराइये।

जै जै मनाऊं आपकी,
बेड़े को पार लगाइये।

आरतियाँ

संकलित
Chapters
श्रीरामरक्षास्तोत्रम्‌
आरती साईबाबा
श्रीराणी सतीजी की आरती
ॐ जय श्री राधा जय श्री कृष्ण
जय जगदीश हरे
हर हर हर महादेव
ॐ जय जगदीश हरे
जय गणेश देवा
जय लक्ष्मी माता
जय अम्बे गौरी
जय संतोषी माता
जयति जयति वन्दन हर की
जय शिव ॐकारा
जय श्री राधा
आरती कीजै हनुमान लला की
आरती कुँज बिहारी की
आरती सिया रघुवर की
आरती उतारे साई बाबा की
आरती वेणु गोपाला की
भागवत भगवान की है आरती
आरती कीजै सरस्वती की
जय केदार उदार शंकर
जै जै भैरव बाबा
बारम्बार प्रणाम, मैया बारम्बार प्रणाम
जय पार्वती माता
जगजननी जय! जय! माँ!
आरती कीजै नरसिंह कुंवर की
आरती युगलकिशोर की कीजै
श्री रामजी की आरती
मंगल मूरति जय जय हनुमंता
जयति जय गायत्री माता
जय गंगे माता
जय हनुमत बीरा
आरती हरि श्री शाकुम्भरी अम्बा
आरती श्रीकृष्ण कन्हैयाकी
आरती कीजै रामचन्द्र जी की
जय लक्ष्मी रमणा
आरती श्री वृषभानुसुता की
जय शिव ओंकारा
भगवान नटवर जी की जय
मायातीत, महेश्वर मन-वच-बुद्धि परे
जय वैष्णवी माता
जय कश्यप नन्दन
जय-जय तुलसी माता
जय जय श्री बदरीनाथ
हरिजू की आरती बनी
जय कालिंदी, हरिप्रिया जय
आरती श्री जगन्नाथ मंगलकारी
श्री शाकुम्भरी देवी जी की आरती
श्री नैना देवी जी की आरती
श्री यमुनाजी की आरती
श्री जगन्नाथ जी की आरती
विराट भगवान की आरती
श्री विष्णु भगवान की आरती
श्री तुलसी जी की आरती
भगवान सूर्य की आरती
नटवर जी की आरती
भगवान श्री कृष्ण की आरती
श्री केदारनाथ जी की आरती
श्री बाला जी की आरती
श्री गंगा जी की आरती
बृहस्पति देव महाराज की आरती
श्रीमद्भागवत आरती
श्री अन्नपूर्णा देवी की आरती
श्री जानकी की आरती
श्री पार्वती माता की आरती
श्री गायत्री जी की आरती
श्री सत्यनारायण जी की आरती
वैष्णो देवी जी की आरती
कामाक्षा माँ की आरती
श्री परशुराम जी की आरती
श्री सांई आरती
श्री खाटू श्याम जी की आरती
श्री सूर्य देव की आरती
श्री विश्वकर्मा आरती
श्री शनिदेव आरती
श्री बद्रीनाथजी की आरती-1
श्री बद्रीनाथजी की आरती-2
एकादशी की आरती
श्री धन्वंतरि जी की आरती
श्री अथ शिवजी की आरती
शिवरात्रि की आरती
श्री बालकृष्ण जी की आरती
श्री काली जी की आरती
श्री भैरव जी की आरती
श्री सालासर बालाजी की आरती
श्री शीतला माता जी की आरती
श्री शाकुंभारी देवी जी की आरती
श्री चिन्तपूर्णी देवी जी की आरती
श्री संणु जी की आरती
श्री जुगलकिशोर जी की आरती
श्री गीता जी की आरती
श्री चन्द्र जी की आरती
श्री रामायण जी की आरती
श्री अन्नपूर्णा देवी जी की आरती
श्री प्रेतराज जी की आरती
रविवार की आरती
मंगलवार की आरती
शुक्रवार की आरती
शनिवार की आरती